Continent or ocean in hindi




महाद्वीप और महासागर के नाम 



पृथ्वी की सतह को दो मुख्य भागो में बांटा गया है बड़े स्थलीय भूभागों को महाद्वीप कहा जाता है और बड़े जलाशयों को महासागरीय बेसिन के नाम से जाना जाता है।
पृथ्वी के 29% भाग पर महाद्वीपों और महासागर बाक़ी पर फैले हुए हैं।





Continent or ocean in hindi/  महाद्वीप और महासागर के नाम





इस भी पढ़ें




महाद्वीप किसे कहते हैं ?



महाद्वीप और महासागर जैसा आज मानचित्र में दिखता है हमेशा से वैसा नहीं था । और आने वाले समय में महाद्वीप और महासागर आज जैसा नहीं रहेगा । 

सन् 1596 में एक डच मांचित्रवेत्ता अब्राहम ऑरटेलियस  ने सबसे पहले यह संभावना व्यक्त की के महासागर के दोनों तरफ की तटरेखा में आश्चर्यजनक सममिति  है ।इसी समानता के कारण दक्षिण व उत्तर अमेरिका तथा यूरोप व अफ्रीका के एक साथ जुड़े होने की संभाना को व्यक्त किया है ।



महाद्वीप और महासागर की उत्पत्ति ।





एंटोनियो पेलेगरिनी ने एक मानचित्र बनाया जिसमें  तीनों महाद्वीप को इक्कट्ठा दिखाया गया था। 

जर्मन मौसमविद अल्फ्रेड वेगनर ने " महाद्वीप विस्थापन सिद्धांत " सन् 1912 में प्रस्तावित किया  । यह सिद्धांत महाद्वीप और महासागर के वितरण से संबंधित है ।

इस सिद्धांत के अनुसार सभी महाद्वीप एक अकेले भूखंड से जुड़े हुए थे ।  वेनेगर के अनुसार आज के सभी महाद्वीप इस भूखंड के भाग थे  और यह एक बड़े महासागर से जुड़ा हुआ था ।  
उन्होंने इस बड़े महाद्वीप को पैंजिया ( pangaea ) का नाम दिया । 

पैंजिया का अर्थ --  सम्पूर्ण पृथ्वी । 

विशाल महासागर को पैंथालासा कहा -- जिसका अर्थ है " जल ही जल " 

वेनेगेर के अनुसार लगभग 20 करोड़ वर्ष पहले पैंजिया का विभाजन होना आरंभ हुआ । पैंजिया पहले दो महाद्वीप " लारेशिया " और " गोडवाना लैंड में विभक्त हुआ ।


इसके बाद गोडवाना लैंड और लारेशिया धीरे धीरे अनेक छोटे हिस्से में बंट गए । जो आज के महाद्वीप के रूप में है ।




Continent or country





महाद्वीप के नाम  



पृथ्वी पर सात प्रमुख महाद्वीप है । एक दूसरे से अलग है । विस्तृत जल राशि के द्वारा । 


ये महाद्वीप है --


1. एशिया महाद्वीप 


2. यूरोप महाद्वीप 


3. अफ्रीका महाद्वीप


4. उत्तर अमेरिका महाद्वीप 


5. दक्षिण अमेरिका महाद्वीप 


6. आस्ट्रेलिया महाद्वीप 


7. अंटार्कटिका महाद्वीप 






Continents name





1. एशिया 


एशिया विश्व का सबसे बड़ा महाद्वीप है । यह पृथ्वी के कुल क्षेत्र के एक तिहाई भाग में फैला है । यह महाद्वीप पूर्वी गोलार्ध में स्थित है । कर्क रेखा एशिया महाद्वीप से होकर गुजरती है । एशिया के पश्चिम में यूराल पर्वत है जो एशिया को यूरोप से अलग करता है । 
यूरोप और एशिया के जुड़े भूभाग को यूरेशिया ( यूरोप + एशिया ) कहा जाता है




2. यूरोप 

यूरोप एशिया से बहुत छोटा है ।  यह महाद्वीप एशिया के पश्चिम में स्थित है । आर्कटिक वृत इससे होकर गुजरता है । 
यह तीन तरफ़ से जल से घिरा है ।





3. अफ्रीका 

अफ्रीका एशिया के बाद विश्व का दूसरा सबसे बड़ा महाद्वीप है । विषुवत वृत या 0 डिग्री अक्षांस इस महाद्वीप के लगभग बीच से होकर गुजरती है । यह एक ऐसा महाद्वीप है जिससे होकर कर्क ,मकर तथा विषुवत तीनों रेखाएं गुजरती हैं । अफ्रीका का बहुत बड़ा भाग उत्तरी गोलार्ध में स्थित है । 

सहारा का रेगिस्तान जो विश्व का सबसे बड़ा रेगिस्तान है अफ्रीका महाद्वीप में स्थित है । यह महाद्वीप चारों तरफ़ से समुद्रों एवम् महासागरों से घिरा है । विश्व की सबसे लंबी नदी नील नदी अफ्रीका से होकर गुजरती है ।





4. उत्तर अमेरिका 


उत्तर अमेरिका विश्व का सबसे बड़ा तीसरा महाद्वीप है । यह दक्षिण अमेरिका से  एक संकरे स्थल से जुड़ा है जिसे पनामा स्थल संधि कहा जाता है । यह महाद्वीप पूरी तरह से उत्तरी एवम् पशिचमी गोलार्ध में स्थित है । यह महाद्वीप तीन
महाद्वीप से घिरा हुआ है।



5. दक्षिण अमेरिका 

इसका अधिकांश भाग दक्षिण गोलार्ध में स्थित है। विश्व की सबसे लंबी पर्वत श्रृंखला एंडीज इसके उत्तर से दक्षिण की ओर फैले लगी । दक्षिण अमेरिका में  अमेज़न बहती है । 


6.  आस्ट्रेलिया 


आस्ट्रेलिया विश्व का सबसे छोटा महाद्वीप है । जो कि पूरी तरह दक्षिण गोलार्ध में स्थित है । यह चारों तरफ से समुद्र एवं महासागरों से घिरा है । इस द्वीपीय महाद्वीप कहा जाता है ।



7.  अंटार्कटिका


अंटार्कटिका एक बहुत बड़ा महाद्वीप है । जो कि दक्षिण  गोलार्ध में स्थित है । दक्षिण ध्रुव इस महाद्वीप के बीच  में स्थित है । दक्षिण ध्रुव के कारण यह हमेशा मोटी बर्फ की परत से ढका रहता है ।  यहां किसी भी प्रकार का स्थाई मानव निवास स्थित नहीं है ।
बहुत से देशों के शोध केंद्र यहां स्थित है । भारत के शोध केंद्र के नाम है  मैत्री तथा दक्षिण गंगोत्री ।





oceans of the world 





महासागर 



पृथ्वी को नीला ग्रह कहा जाता है । पृथ्वी का 71% भाग जल तथा 29% भाग स्थल है । जल मंडल में जल के सभी रूप उपस्थित है ।  इसमें महासागर , नदियां , झीलें , हिमनदियां , भूमिगत जल और वायु मंडल के जलवाष्प सब मिले हुए हैं। 


97% से अधिक भाग जल का महासागरों में पाया जाता है ।  यह जल इतना अधिक खारा होता है के मानव के उपयुग का नहीं होता है । शेष जल बर्फ की परतों हिमनदियों और भूमिगत जल के रूप में पाया जाता है । 

महासागर जलमंडल के मुख्य भाग है ।  ये आपस में एक दूसरे से जुड़े हुए है । महासागर जल हमेशा गतिशील होता है । 



महासागर जल की तीन मुख्य गतियां है ----
तरंगे , ज्वार - भाटा  और  महासागरीय घाराएं ।




Continent or ocean in hindi /महाद्वीप और महासागर के नाम






महासागर कितने है नाम बताइए



पांच महासागर है --


1. प्रशांत महासागर 


2. अटलांटिक महासागर


3. हिन्द महासागर


4. दक्षिणी महासागर 


5. आर्कटिक महासागर




सबसे बड़ा महासागर कौन सा है ?




1. प्रशांत महासागर



प्रशांत महासागर सबसे बड़ा महासागर है । यह पृथ्वी की एक तिहाई भाग पर फैला है । पृथ्वी का सबसे गहरा भाग मेरियाना गर्त प्रशांत महासागर में ही स्थित है । प्रशांत महासागर वृत्ताकार है । एशिया ,आस्ट्रेलिया , उत्तर एवम् दक्षिण अमेरिका इसके चारो ओर है ।



2. अटलांटिक महासागर 


अटलांटिक महासागर विश्व का दूसरा सबसे बड़ा महासागर है । यह अंग्रेजी भाषा के अक्षर S की तरह है । इसके पशचमी किनारे पर उत्तर और दक्षिण अमेरिका है । पूर्वी किनारे पर यूरोप और अफ्रीका है । व्यापार की दृष्टि से यह सबसे व्यस्त महासागर है । 


3. हिन्द महासागर 



भारत देश के नाम पर हिन्द महासागर का नाम पड़ा । यह महासागर त्रिभुजाकार  है । इसके उत्तर में एशिया , पश्चिम में अफ्रीका , तथा पूर्व में आस्ट्रेलिया स्थित है । 



4. दक्षिणी महासागर

दक्षिणी महासागर अंटार्कटिका महाद्वीप को चारो ओर से घेरता है । यह अंटार्कटिका महाद्वीप के उत्तर की ओर 60° दक्षिणी अक्षांस तक फैला हुआ है । 



5. आर्कटिक महासागर 


आर्कटिक महासागर उत्तर ध्रुव वृत में स्थित है ।तथा यह उत्तर ध्रुव के चारो ओर फैला है । यह प्रशांत महासागर के छिछले जल वाले एक संकरे भाग से जुड़ा हुआ है । जिसे बेरिंग जल संधि के नाम से जाना जाता है । यह उत्तर अमेरिका के उत्तरी तटों तथा यूरेशिया से घिरा हुआ है।